Friday, 18 October 2019

Rajasthan Ke Mele in Hindi Part 10

dungarpur jile ke mele

Rajasthan Ke Mele in Hindi Part 10
Rajasthan Ke Mele in Hindi Part 10

  • बैणेश्वर मेला - नवाटापुरा गांव बैणेश्वर (डूंगरपुर)
  • गलियाकोट का उर्स - गलियाकोट (डूंगरपुर) मुहर्रम से 27वें दिन तक लगातार लगता है
  • यह गलियाकोट का उर्स दाउदी बोहरा मुस्लिम सम्प्रदाय का उर्स है ।
  • दाऊदी बोहरा सम्प्रदाय के संत फखरूद्दीन की पवित्र दरगाह के कारण गलियाकोट कस्बा विश्व प्रसिद्ध है 
  • देव सोमनाथ का मेला डूंगरपुर मे लगता है
  • बोरेश्वर का मेला डूंगरपुर मे बैशाख पूर्णिमा को लगता है
  • बीजवा माता का मेला डूंगरपुर मे लगता है
  • हड़मतिया हनुमान का मेला डूंगरपुर कार्तिक पूर्णिमा को लगता है
  • नीला पानी मेला डूंगरपुर कार्तिक पूर्णिमा को लगता है

 बांसवाडा jile ke mele

  • मानगढ़ धाम मेला बांसवाडा मार्गशीर्ष पूर्णिमा को लगता है
  • त्रिपुरा सुन्दरी मेला तिलवाडा (बांसवाडा)
  • घाडी-रणछोड़ जी का मेला मौटाग्राम (बांसवाडा)
  • कल्ला जी का मेला गढाग्राम (बांसवाडा) आश्विन नवरात्रा के प्रथम रविवार को लगता है
  • घोटिया आम्बा मेला बुड़वा ग्राम (बांसवाडा) चैत्र अमावस्या को
  • चीच/छींछ माता का मेला - बांसवाडा
  •  गोपेश्वर मेला धाटोल (बांसवाडा)
  • अंदेश्वर मेला बाड़मेर

प्रतापगढ़ jile ke mele

  • गौतमेश्वर मेला आरनोद (प्रतापगढ़) वैशाख़ पूर्णिमा
  • गौतमेश्वर नामक स्थल पर गौतम ऋषि ने तपस्या की थी ।
  • आदिवासी इस मेले के अवसर पर अपने दिवंगत परिवारजनों की अस्थियों को विसर्जित करते है ।
  • सीतामाता मेला प्रतापगढ - ज्येष्ठ अमावस्या

मातृकुण्डिया का मेला 

  • राश्मी पंचायत के हरनाथपुरा गाँव वैशाख पूर्णिमा
  • यहां मेलार्थी भगवान शिव की प्रतिमा के दर्शन करने आते है । एक पुरानी धारणा के अनुसार भगवान परशुराम ने अपनी माता की हत्या के अपराध से मुक्ति हेतु मातृकुंण्डिया जलाशय में स्नान किया ।
  • इस मेले में श्रृंद्धालु अपने स्वर्गवास परिजनों की अस्थिया विसर्जित करते है ।
  • मातृकुंण्डिया नामक स्थल राशमी ग्राम के पास बहने वाली चन्द्रभागा नदी के किनारे स्थित है ।
  • इस तीर्थ को 'राजस्थान का हरिद्वार' भी कहा जाता है । यहाँ प्रसिद्ध लक्ष्मण झूला (हरिद्वार ki भांति) है

चित्तौड़गढ़ jile ke mele

  • जलझूलनी एकादशी मेला - मण्डफिया (चित्तौड़गढ़) भाद्रपद शुक्ला एकादशी
  • जौहर मेला चितौड़गढ दुर्ग (चितोड़गढ)चैत्र कृष्ण एकादशी
  • सांवलिया जी मेला - मंडफिया (चितौड़गढ) भाद्र शुक्ल एकादशी
  • राम-रावण मेला चितौड़गढ चैत्र शुक्ल दशमी
  • बड़ी सादडी मेला चितौड़गढ
  • मीरा महोत्सव - चितोड़गढ आश्विन पूर्णिमा

भीलवाडा jile ke mele

  • फूल डोल मेला - शाहपुरा (भीलवाडा) चैत्र कृष्ण प्रतिपदा से पंचमी तक
  • देवनारायणजी का मेला आसीन्द (भीलवाडा)
  • धनोप माता का मेला भीलवाडा चैत्र कृष्ण एकम से दशमी तक
  • सवाई भोज मेला - आसीद ( भीलवाडा) भाद्र शुक्ल अष्टमी
  • तिलस्वा महादेव मेला - मांडलगढ़ (भीलवाडा) फाल्गुन महाशिवरात्रि के अवसर पर आयोजित किया जाता है
  • घाटे रानी का मेला भीलवाडा
  • जोगणियां माता का मेला भीलवाडा
  • सोरत मेला मेनाल (भीलवाडा) फाल्गुन कृष्ण त्रयोदशी

कोटा jile ke mele

  • दशहरा मेला कोटा आसोज शुक्ल पक्ष दशमी
  • माधोसिंह के समय में कोटा का दशहरा मेला लगना प्रारंभ हुआ
  • गेपरनाथ महादेव मेला - कोटा महाशिवरात्रि के अवसर पर 

झालावाड jile ke mele

  • श्रीगोमती सागर पशु मेला - झालरापाटन (झालावाड) वैशाख पूर्णिमा
  • गोमती सागर मेला हाडोती अंचल का सबसे बड़ा पशू मेला है
  • यह मेला मालवी नस्ल से सम्बन्धित है ।
  • यह मेला गोमती नदी के किनारे भरता है ।
  • चन्द्रभागा पशु मेला झालरापाटन (झालावाड) कार्तिक पूर्णिमा
  • वसंत पंचमी मेला भवानीमंडी, अकलेरा (झालावाड)
  • रामनवमी मेला झालावाड
  • ब्रह्माजी मेला झालावाड
  • राडी के बालाजी का मेला झालावाड
  • मिट्ठेशाह का उर्स - गागरोन (झालावाड)

बारां jile ke mele

  • डोल मेला -2 - कृष्णगढ़ (बारां) भाद्रपद शुक्ल एकादशी
  • भाद्रपद शुक्ला एकादशी को लोक भाषा में डोल ग्यारस भी कहते हैं ।
  • सीताबाडी का मेला केलवाड़ा (बारां)
  • ब्राह्मणी माता का मेला सोरसन ग्राम (बारां) माघ शूक्ला

सप्तमी

  • ब्रह्माणी माता का मेला हाडौती कस्बे का एकमात्र गधों का मेला है ।
  • कपिल धारा का मेला - सहरिया (बारां) कार्तिक पूर्णिमा गूगोर माता का मेला - बारां
  • मऊ का वसन्त पंचमी मेला बारां
  • पिपलोद का क्रिसमस मेला अटरू ( बारां )
  • यहाँ पर क्रिसमस पर्व पर 25 दिसम्बर को मेला भरता है

 सवाई माधोपुर jile ke mele

  • गणेश जी का मेला रणथम्भौर दुर्ग (सवाई माधोपुर ) भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी
  • शिवाड का मेला - सवाईमाधोपुर  फाल्गुन कृष्ण त्रयोदशी
  • चौथ माता का मेला - चौथ का बरवाडा (सवाईमाधोपुर) माघ कृष्ण चतुर्थी
  • कल्याण जी महाराज का मेला - सवाईमाधोपुर
  • तेजाजी/हीराराम जी का मेला - सवाईमाधोपुर
  • चमत्कार जी का मेला शिवाड़ (सवाई माधोपुर)  अश्विन पूर्णिमा
  • रामेश्वर घाट मेला - सवाई माधोपुर  कार्तिक पूर्णिमा

 करौली jile ke mele

  • महावीर जी का मेला - श्री महावीर (करौली)

कैलादेवी का लक्खी मेला 

  • करौली  चैत्र शुक्ल एकम से दशमी
  • यह मार्च-अप्रेल में भरता है ।
  • इस दिन लांगुरिया के गीत गाये जाते हैं ।
  • कैलादेवी की आठ भुजाएं है एवं इसे सिंह पर सवारी करते हुए दर्शाया गया है ।
  • लाखों भक्त मेले में आते है अत  यह लक्खी मेला कहलाता है ।

महाशिवरात्रि पशु मेला  

  • करौली फाल्गुन कृष्ण त्रयोदशी
  • हरियाणवी नस्ल के लिए प्रसिद्ध है ।

 धौलपुर jile ke mele

  • बाबू महाराज का मेला - बाडी (धौलपुर)  भाद्र शुक्ल एकादशी
  • तीर्थराज का मेला - मचकुण्ड ( धौलपुर ) भाद्रपद शुक्ल षष्ठी
  • सैपऊ महादेव मेला - धौलपुर फाल्गुन व श्रावण मास की चतुर्थी 
  • मचकुण्ड का मेला- धौलपुर
  • बारह भाईयों का मेला- धौलपुर

 भरतपुर jile ke mele

  • जसवन्त प्रदर्शनी मेला - भरतपुर आश्विन शुक्ल पंचमी से पूर्णिमा
  • यह एक पशु मेला है ।
  • यह मेला हरियाणवी नस्ल के लिए प्रसिद्ध है ।
  • भोजन-थाली मेला - कामा (भरतपुर) भाद्रपद शुक्ल पंचमी
  • बसन्ती पशु मेला-रूपवास (भरतपुर) माघ अमावस्या से माघ शुक्ल अष्टमी
  • ब्रज यात्रा मेला - डीग (भरतपुर) माघ कृष्ण द्वादशी से माघ शुक्ल  पंचमी              
  • गंगा दशहरा मेला- कामां (भरतपुर) ज्येष्ठ शुक्ल सप्तमी से द्वादशी
  • गरुड़ मेला- बंसी पहाड़पुर (भरतपुर) कार्तिक शुक्ल तृतीया
  • बजरंग पशु मेला -उज्जैन ( भरतपुर) आश्विन कृष्ण द्वितीया से अष्टमी
  • हीराम बाबा का मेला - नगला जहाजपुर ( भरतपुर ) भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी व बैशाख चतुर्थी
  • देव बाबा का मेला- नगला जहाज ( भरतपुर )
  • ब्रज महोत्सव- भरतपुर

अलवर jile ke mele

  • चन्द्रप्रभुजी का मेला-  तीजारा ( अलवर)  फाल्युन शुक्ल सप्तमी व श्रावण शुक्ल दशमी
  • भर्तृहरि का मेला-  भर्तृहरि ( अलवर )  भाद्रपद शुक्ल अष्टमी  यहॉ भर्तृहरि बाबा का समाधि स्थल है ।
  • लालदास जी का मेला - अलवर
  • पाण्डुपोल हनुमान मेला- अलवर  भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी-पंचमी
  • बहरोड पशु मेला- अलवर
  • मुर्रा नस्ल कै लिए प्रसिद्ध है ।
  • धौलागढ़ देवी का मेला-  बहुतूकला ( अलवर)  वैशाख सुदी 1 से 15 तक
  • जगन्नाथ जी का मेला- रूपवास ( अलवर)  आषाढ़ सुदी 8 से 13 तक ।
  • नारायणी माता का मेला-  सरिस्का ( अलवर)  बैशाख शुक्ल एकादशी
  • बिलारी माता का मेला- अलवर
  • चूहड़ सिद्ध मेला- अलवर  महाशिवरात्रि 
  • गिरधारी मेला- बानसूर ( अलवर)  चैत्र शुक्ल द्वादशी    
  • बिलारी माता का मेला-  अलवर  चैत्र कृष्ण अष्टमी
  • मत्स्य महोत्सव - अलवर

जयपुर jile ke mele

  • बाड़ा-पदमपुरा जैन का मेला - बाडा पदमपुरा (जयपुर)  यह जैनियों का प्रसिद्ध मेला है ।
  • गधों का मेला-  लूणियावास (जयपुर)
  • तीज का मेला -  जयपुर  श्रावण शुक्ल तीज
  • पौराणिक कथाओं के अनुसार पार्वती ने भगवान शिव जैसा पति पाने के लिए वर्षों तपस्या की थी । अत: इस दिन कुवारियां पार्वती का पूजन कर शिव जैसा पति पाने की प्रार्थना करती है ।

शीतला माता का मेला

  • शीतला अष्टमी के दिन ठण्डा भोजन खाया जाता है, इसे बासीड़ा/बांस्यीड़ा कहा जाता है ।
  • शीला माता का मेला- जयपुर
  • शीतला माता का मेला- चाकसू (जयपुर)  शीतला अष्टमी (चैत्र कृष्ण8)
  • शीतला माता के मन्दिर का पुजारी कुम्हार जाति का होता है । राजस्थान में सेढ़ल माता और शीतला एक ही है
  • बाणगंगा मेला -  विराटनगर/ बैराठ (जयपुर)  वैशाख पूर्णिमा
  • ख़लकानी माता का मेला- जयपुर .
  • श्री जगदीश महाराज का मेला- गोनेर (जयपुर)
  • वर्ष  में दो बार लगता है ।
  • यह हिन्दुओं का लोक मेला है ।
  • दादू जी का मेला- नारायणा (जयपुर) फाल्गुन शुक्ल अष्टमी
  • गणगौर का मेला- जयपुर व उदयपुर श्रावण शुक्ल तृतीया
  • हाथी महोत्सव- जयपुर
  • ग्रीष्म महोत्सव- जयपुर 
  • तीज महोत्सव जयपुर
  • पतंग महोत्सव जयपुर
  • बसन्त पंचमी मेला अंकलेरा एवं भवानी मंडी (जयपुर)

सीकर jile ke mele

  • जीणमाता का मेला रेवासा (सीकर) चैत्र तथा आश्विन माह
  • जीणमाता के मन्दिर में अष्ट भुजा की मूर्ति है । जीणमाता के मन्दिर का निर्माण 1064 ई. में मोहित के हठड़ द्वारा करवाया गया ।
  • श्री खादू श्याम जी का मेला खाटूश्यामजी (सीकर) फाल्गुन शुक्ल एकादशी से द्वादशी
  • ख्वाजा नजमुद्दीनशाह का उर्स फतेहपुर (सीकर)
  • हर्षनाथ का मेला सीकर
  • शाकम्भरी माता का मेला सीकर चैत्र व आश्विन नवरात्रों को
  • मामादेव का मेला स्यालोदड़ा गाँव (सीकर)
  • बाबा झुंझार जी का मेला स्यालोदड़ा गाँव (सीकर)

झुंझुनूं jile ke mele

  • शक्कर बाबा का मेला नरहड़ (झुंझुनूं) जन्माष्टमी
  • यहा पर इन्हें वागड का धनी के उपनाम से भी जाना जाता है ।
  • हजारत हाफिज शक्कर बाबा शाह की प्राचीन दरगाह है ।
  • इस दरगाह में जाल का वृक्ष है, जिस पर जायरीन अपनी मन्नतों के डोरे टांग देते है और उनकी मन्नतें पूरी हो जाती है ।
  • रानी सती का मेला झुंझुनूं  भाद्रपद अमावस्या
  • मार्च 1988 में भारत सरकार द्वारा सती (निवारण) अधिनियम पारित कर देने के पश्चात इस मेले पर भी रोक लगा दी गई
  • लोहार्गल मेला लोहार्गल (झुंझुनूं) भाद्र कृष्ण नवमी से अमावस्या तथा चैत्र की सोमवती अमावस्य तक
  • शाकम्भरी माता का मेला- उदयपुरवाटी (झुंझुनूं)  चैत्र, आश्विन नवरात्रों में

चूरू jile ke mele

  • साहवा सिक्ख मेला- साहवा (चूरू)  कार्तिक पूर्णिमा साण्डन कालका माता का मेला- चूरू
  • सालासर हनुमान जी का मेला- सालासर (चूरू )  चैत्र पूर्णिमा  किवंदति के अनुसार सालासर के पास गाँव में हनुमान जी की मूर्ति स्वत: प्रादर्भूत हुई थी । इसे एक महात्मा ने सालासर में प्रतिष्ठित किया था।

हनुमानगढjile ke mele

  • गोगामेड़ी मेला- गोगामेड़ी (हनुमानगढ)  गोगानवमीं (भाद्रपद कृष्ण नवमी)
  • भद्रकाली का मेला- हनुमानगढ   चैत्र शुक्ल अष्टमी व नवमी
  • शिला माता का मेला- हनुमानगढ  प्रत्येक शुक्रवार ब्रहमाणी माता का मेला- पल्लू (हनुमानगढ़) चैत्र शुक्ल अष्टमी

नागौर jile ke mele

  • रामदेव पशु मेला - मानासर (नागैर)  माघ शीर्ष शुक्ल प्रतिपदा  से पूर्णिमा
  • बलदेव पशु मेला- मेड़ता सिटी (नागौर)  चैत्र शुक्ल 1 से चैत्र शुक्ल पूर्णिमा
  • वीर तेजाजी का पशु मेला परवतसर (नागौर) भाद्रपद शुक्ल पक्ष की दशमी से पूर्णिमा 
  • हमीदुद्दीन नागौरी का उर्स नागौर
  • दधिमाता मेला गोठ मांगलोद (नागोर) चैत्र व आश्विन नवरात्र में
  • चारभुजा नाथ (मीरां बाई) का मेला नागौर  श्रावण शुक्ल एकादशी से सात दिन
  • हरीराम बाबा का मेला नागौर
  • तारकीन का उर्स नागोर

जोधपुर jile ke mele

  • धींगागवर बेंतमार मेला जोधपुर बैशाख कृष्ण तृतीया
  • चामुण्डा माता का मेला जोधपुर आश्विन शुक्ल नवमी
  • वीरपुरी का मेला मण्डोर (जोधपुर) श्रावण के अंतिम सोमवार
  • खेजड़ली मेला खेजड़ली (जोधपुर) भाद्र शुक्ल पक्ष दशमी 
  • नागपंचमी मेला मण्डोर (जोधपुर) भाद्र कृष्ण पंचमी संचिया माता का मेला जोधपुर
  • घूडला मेला जोधपुर चैत्र शुक्ल तृतीया
  • 33 करोड देवी-देवताओं का मेला जोधपुर
  • पाबूजी का मेला जोधपुर आई माता का मेला जोधपुर
  • मसुरिया मेला जोधपुर
  • राता-भाकर मेला जोधपुर
  • कोलूमण्ड का मेला जोधपुर
  • मारवाड़ महोत्सव -जोधपुर

पाली jile ke mele

  • चोटिला पीर दुलेशाह का मेला केरला (पाली) कार्तिक  कृष्ण प्रतिपदा व द्वितीया
  • दीवाली के दूसरे दिन भरता है ।
  • सालेश्वर महादेव मेला गुढा प्रतापसिंह (पाली)
  • परशुराम महादेव मेला देसूरी (पाली) श्रावण शूक्ल षष्ठी व सप्तमी
  • खेतलाजी मेला पाली
  • बरकाना का मेला पाली पोष सुदी 10
  • जैन धर्मावलम्बियों का मेला है ।
  • गोरिया गणगौर मेला गोरिया (बाली तहसील) फाली वैशाख शुक्ला सप्तमी
  • सौनाण खेतला का मेला - सारंगवास (पाली) चैत्र शुक्ल प्रतिपदा
  • पश्चिमी राजस्थान के पाँच/ छःजिलो से आने वाले नर्तक दलों का प्रदर्शन इसका मुख्य आकर्षण है
  • निम्बो का नाथ मेला फालना सांडेराव (पाली) बैशाख पूर्णिमा व शिवरात्रि
  • परशुराम महादेव मेला देसूरी क्षेत्र (पाली)
  • मल्लू का मेला पाली
  • बाली का मेला पाली
  • रणकपुर का मेला पाली फाल्गुन शुक्ल चतुर्थ से पंचमी  

राजसमंद jile ke mele

  • चार भुजा का मेला राजसमन्द : भाद्रपद शुक्ल एकादशी 
  • जन्माष्टमी मेला नाथद्वारा (राजसमंद) : भाद्र कृष्ण अष्टमी
  • प्रताप जयंती / हल्दीघाटी मेला हल्दीघाटी (राजसमन्द) ज्येष्ठ शुक्ल तृतीया
  • देवझूलनी मेला चारभुजा ( राजसमन्द ) भाद्र शुक्ल एकादशी
  • अन्नकूट मेला महोत्सव नाथद्वारा (राजसमन्द) : कार्तिक शूक्ल एकम्

अजमेर jile ke mele

  • पुष्कर मेला पुष्कर (अजमेर)  कार्तिक शुक्ल एकादशी से पूर्णिमा
  • मेरवाड़ा का सबसे बडा मेला है ।
  • राजस्थान का सबसे रंगीन मेला है ।
  • पुष्कर में दीपदान की परम्परा पुराने समय से चली आ रही है ।
  • ख्वाजा साहब का उर्स अजमेर रज्जबी मास की 1से 6 तारीख
  • मुस्लिमों का सबसे बडा मेला है ।
  • ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में भरता है ।
  • बादशाह का मेला ब्यावर (अजमेर)
  • कल्पवृक्ष मेला मांगलियावास (अजमेर) हरियाली/श्रावण अमावस्या
  • पंजाब शाह का उर्स अजमेर
  • माल्या काल्या का मेला अजमेर
  • कौड़ामार होली  अजमेर
  • तेजाजी का मेला ब्यावर, दोराई, कैवडी, टाटगढ़ (अजमेर)  भाद्र शुक्ल दशमी
  • अतेड मेला अजमेर

टोंक jile ke mele

  • माकड भी का मेला- आमेर आषाढ शुक्ल द्वितीया कल्याजी का मेला टोंक
  • डिमीपुरी का राजा मेला टोंक

दौसा jile ke mele

  • बीजासणी माता का मेला लालसोट (दौसा) चैत्र पूर्णिमा
  • श्रीरामपुरा मेला बसवा (दौसा) भाद्र कृष्ण अष्टमी मेहन्दीपूर बालाजी का मेला दौसा चैत्र पूर्णिमा
  • आभानेरी उत्सव दौसा

बुंदी jile ke mele

  • मनसा माता का मेला इन्द्रगढ़ चैत्र शुक्ल अष्टमी व आश्विन शुक्ल अष्टमी
  • दहेलबाल जी महाराज पशु ममेला बूंदी
  • नैनवा पशु मेला बूंदी 
  • आलोद तेजाजी का मेला बुंदी
  • बिजासण माता का मेला इंद्रगढ़ (बूंदी) चैत्र आश्विन नवरात्रों में बैशाख पूर्णिमा
  • कजली तीज महोत्सव बूंदी भाद्र कृष्ण तृतीया
  • कार्तिक मेला बूंदी 

Read more

Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: