Thursday, 17 January 2019

राजस्थान में ऊर्जा विकास | Rajasthan ke Urja Sansadhan

नमस्कार दोस्तों Raj GK में आपका स्वागत है आज हम राजस्थान में ऊर्जा विकास ( Rajasthan ke Urja Sansadhan), rajasthan me urja ka pramukh strot, rajasthan parmanu urja pariyojna के बारे में महत्वपूर्ण Fact आपके लिए लेकर आए हैं यह पोस्ट Rajasthan GK से संबंधित है main source of energy in rajasthan इस में उल्लेख किया गया है
राजस्थान में ऊर्जा विकास | Rajasthan ke Urja Sansadhan
राजस्थान में ऊर्जा विकास  Rajasthan ke Urja Sansadhan

ऊर्जा विकास ( Urja Sansadhan )

  • 14 दिसम्बर को प्रत्येक वर्ष ऊर्जा संरक्षण दिवस के रूप में मनाया जाता है ।
  • भारतीय संविधान में विद्युत/ ऊर्जा को समवर्ती सूची में शामिल किया गया है ।
  • भारत का प्रथम जल विद्युत गृह 1897 में दार्जिलिंग ( पश्चिम बंगाल ) में प्रारंभ किया गया ।
  • 1902 मे शिव समुंद ( कर्नाटक ) में कावेरी नदी पर एक पन विद्युत गृह स्थापित किया गया ।
  • स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात 1948 में भारत में विद्युत आपूर्ति अधिनियम 1948 लागू किया गया ।

राजस्थान में ऊर्जा विकास | Rajasthan ke Urja Sansadhan

  • राजस्थान में 1 जुलाई 1957 को राजस्थान राज्य विद्युत मण्डल की स्थानापना की गई ।
  • 1975 में केन्द्र सरकार के द्वारा 'राष्ट्रीय जल विद्युत ऊर्जा निगम' की स्थापना की गई । 
  • राजस्थान ऊर्जा विकास अभिकरण ( REDA ) की स्थापना 21 जनवरी, 1985 में की गई ।
  • 2002 मे इस संस्था का विलय राजस्थान अक्षय ऊर्जा  निगम मे कर दिया गया ।
  • राज्य में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले S.T./S.C./O.B.C.के लोगो को एक प्रकाश बल्ब की घरेलू विद्युत प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा 1988 -1989 में ' कुटीर ज्योति योजना' प्रारंभ कि गई ।

राजस्थान विद्युत क्षेत्र सुधार अधिनियम – 1999

  • विश्व बैंक की सहायता से देश में ऊर्जा क्षेत्र सुधार कार्यक्रम अपनाया गया 
  • राजस्थान सरकार ने राजस्थान विद्युत क्षेत्र सुधार अधिनियम 1999 पारित करवाया जो 1 जून 2000 से लागू हुआ।
  • इस अधिनियम के अंतर्गत राजस्थान राज्य विद्युत मंडल का विभाजन कर 5 विद्युत कंपनियों का गठन किया गया तथा मंडल के कार्य इन नवगठित कंपनियों को हस्तांतरित कर दिये गये।
  • राजस्थान देश का ऐसा पहला राज्य है जिसने एक ही चरण में विद्युत क्षेत्र सुधार कार्यक्रम को अपनाया।

RSPCL

  • राजस्थान स्टेट पॉवर कॉपोरेशन लिमिटेड (RSPCL) की स्थापना 1995 में की गई ।
  • 2002 में इस संस्था का विलय राजस्थान अक्षय ऊर्जा निगम में कर दिया गया ।
  • राजस्थान अक्षय ऊर्जा निगम की स्थापना राजस्थान स्टेट पॉवर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (RSPCL) राजस्थान ऊर्जा विकास अभिकरण ( REDA ) को मिलाकर अगस्त 2002 में की गई ।
  • इस निगम द्वारा एक मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजना फागी (जयपुर) मे स्थापित की जा रही है ।राजस्थान में 2 जनवरी 2001 को राजस्थान विद्युत नियामक आयोग का गठन किया गया ।
  • इस आयोग का प्रथम अथ्यक्ष श्री अरूण कुमार

rajasthan parmanu urja नीति

  • गैर परम्परागत ऊर्जा स्रोतों से विद्युत उत्पादन प्रोत्साहन नीति
  • राज्य सरकार द्वारा यह नीति 11 मार्च, 1999 ईं ॰ को लागू की गई ।
  • कैप्टिव पावर प्लांट नीति राज्य सरकार द्वारा इस नीति की घोषणा 15 जुलाई, 1999 ईं.को की गई ।
  • गैर परम्परागत ऊर्जा स्रोतों से विद्युत उत्पादन हेतु नीति राज्य सरकार द्वारा इसकी घोषणा 25 अक्टूबर, 2004 ईं. को की गई
  • 4 अप्रैल, 2005 को प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह द्वारा नई दिल्ली में राजीव गान्धी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना प्रारम्भ की गई ।
  • जिसके तहत राज्य के अलवर बूंदी कोटा आदि जिलों को बुनियादी विधूत सेवाएं प्रदान की जायेंगी ।

राजस्थान में ऊर्जा विकास Parmanu Fact 

  • राजस्थान अक्षय ऊर्जा निगम को आइमा पॉवर अवार्ड 2009 में दिया गया । 
  • 16 अक्टूबर, 2009 को जोधपुर में प्रदेश के पहले मानव रहित स्वयं संचालित 33/11 के वी. ग्रिड सब स्टेशन का प्रारंभ किया गया ।
  • विद्युत दुर्घटना में किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर राजस्थान सरकार ने 2011 -12 में देय अनुदान राशि को 25 ,000 रू से बढाकर 2 ,50,000 रू कर दी।
  • राजस्थान मे बीकानेर जिले के हिम्मतासर गाँव में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा प्रदेश के प्रथम कंप्यूटरीकृत 400 किलोवाट ग्रिड-स्टेशन का शिलान्यास किया गया
  • राज्य के धौलपुर जिले में रेलवे अपना स्वयं का थर्मल पॉवर प्लांट लगायेगा ।
  • स्वतंत्रता प्राप्ति के समय राज्य मे" केवल 15 विद्युत गृह थे जिनकी उत्पादन क्षमता 13.27 मेगावाट थी ।
  • राजस्थान में देश का पहला भूमिगत गैस बिजली घर मेड़ता रोड़ ( नगौर ) बनाया गया है ।
  • प्रतिव्यक्ति शवित ऊर्जा की खपत की दृष्टि से संयुक्त राज्य अमेरिका का विश्व में पहला स्थान है ।
  • राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड का मुख्यालय जयपुर में स्थित है ।
  • राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड का मुख्यालय जयपुर मे स्थित है ।
  • देश में 10 स्वदेशी परमाणु ऊर्जा रिएक्टर मंजूर, इनसे 7000 मेगावाट बिजली पैदा होगी
  • कोटा, 20 जुलाई (हि.स.)। देश के परमाणु ऊर्जा उत्पादन में राजस्थान अग्रणी राज्यों की सूची में होगा। 

जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड

  • इसका मुख्यालय जोधपुर में स्थित है ।
  • इसमे राज्य के 10 जिले शामिल है गंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर, बाड़मेर, जालौर, सिरोही, पाली, जोधपुर, लाडतू (नागौर) , चूरू, हनुमानगढ ।

अजमेर विद्युत वितरण नियम लिमिटेड

  • इसका मुख्यालय अजमेर में स्थित है ।
  • इसमें राज्य के 11 जिले शामिल है उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ, चितौडगढ़, भीलवाडा, राजभमंद, अजमेर, नागौर, सीकर, झुंझुनूं।

जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड

  • इसका मुख्यालय जयपुरमें स्थित हैं ।
  • इसमें राज्य के 12 जिले शामिल है जयपुर, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर, दौसा, टोंक, कोटा, बूंदी, बांरा, झालावाड

दोस्तों यह Rajasthan GK (Raj GK ) Rpsc Exam ka gk याद करने का सबसे आसान तरीका है इस पोस्ट से आप राजस्थान में ऊर्जा विकास | Rajasthan ke Urja Sansadhan in Hindi में Step by Step आसानी से पढ़कर याद कर सकते हैं अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करना

Read also

  1. राजस्थान में प्रमुख उद्योग | Rajasthan ke Udyog
  2. Rajasthan me Paryatan in Hindi
  3. राजस्थान की झीले - Rajasthan ki Jhile
  4.  Rajasthan ke Zilon ki Aakriti
  5. Revolution in Rajasthan राजस्थान में 1857 की क्रांति
Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: