Thursday, 21 February 2019

राजस्थान की लोकदेवियां -Kul devi of Rajasthan in Hindi

इस पोस्ट से आप राजस्थान की लोक देवियाँ -Kul devi of Rajasthan को Step by Step आसानी से पढ़कर याद कर सकते हैं

राजस्थान की लोकदेवियां -Kul devi of Rajasthan

Kul devi of Rajasthan in Hindi
राजस्थान की लोकदेवियां

मरमर/आद माता झालावंश की कुल देवी है ।

अश्रुपूर्णा बड़बडी माता

  • बड़बडी माता का मंदिर जेसलमेर मे है । 
  • अश्रुपूर्णा बड़बडी माता कछवाहों की कुलदेवी मानी जाती है ।

हर्षद् माता

  • हर्षद् माता का प्रमुख स्थान आभानेरी (दौसा) में है ।
  • इनका मंदिर महामारू शैली का है ।

अम्बा माता

  • अम्बा माता उदयपुर की है ।
  • इनका एक मंदिर माउण्ट आबू में हैं ।

कालका माता

  • इनका प्रसिद्ध मंदिर पल्लु (हनुमानगढ) में है ।
  • कालका माता सोनियों (सुनारों) की कुलदेवी है ।

राजेश्वरी माता 

  • राजेश्वरी माता भरतपुर की कुलदेवी है ।
  • यह माता भरतपुर की है ।

पथवारी माता 

  • पथचारी देवी गाँव के बाहर स्थापित की जाती है ।
  • तीर्थयात्रा की सफलता की कामना हेतु राजस्थान में पथवारी देवी की लोकदेवी के रूप में पूजा की जाती है ।

हिचकी माता 

  • यह सनवाड़ (उदयपुर) फतेहनगरी की लोकदेवी है ।
  • इस माता की पूजा से हिचकी निवारण हो जाता है, इसलिए इसको हिचकी माता कहा जाता है ।

अम्बिका माता

  • अम्बिका माता का मंदिर जगत (उदयपुर) में है ।
  • जगत (उदयपुर) शक्ति मीठ कहलाता है ।

तुलजा भवानी 

  • इस माता का मंदिर चित्तौड़ दुर्ग के अंदर बना हुआ है ।
  • तुलजा भवानी छत्रपति शिवाजी के वंश की कुल देवी है ।

अन्य प्रमुख कुल देवियां

  • ऊँटा माता जोधपुर क्षेत्र की है ।
  • भांवल माता मेड़ता (नागौर) क्षेत्र की है ।
  • इन्दर माता इन्दरगढ़ (बूंदी) क्षेत्र की है ।
  • ब्राह्मणी माता कुम्हारों की कुलदेवी है ।
  • खोडियान देवी खोड़ाल लोंगीवाला (जैसलमेर) की है ।
  • अधर देवी माउण्ट आबू (सिरोही) की है ।
  • चारभुजा माता खमनौर (जोधपुर) क्षेत्र की है ।
  • मंशा देवी चूरू जिले की है ।
  • सच्चिका माता आर्णियां (नागौर) की है ।
  • छींछ माता बांसवाडा की है ।
  • बिखड़ा माता चित्तौड़ दुर्ग (चित्तौड़गढ़) की है ।
  • खीमल माता बसंतगढ़ सिरोही की है ।
  • कैंवाय माता किणसदिया (परबतसर-नागौर) की है ।
  • खोडियाल माता लोंगेवाला (जैसलमेर) की है ।
  • लोंगेवाला चेकपोस्ट पर जे पी दत्ता ने बॉर्डर फिल्म बनाईं थी । देवी के गीत व मंत्र इत्यादि 'चिरजा' कहलाते है ।
  • गले में बांधी जाने वाली देवी की प्रतिकृति 'नावा' कहलाती है । अलौकिक शक्ति के द्वारा किसी कार्य को करना अथवा करवा देना पर्चा देना (शक्ति का परिचय) कहलाता है ।
रोग निवारण लोक देवियां - छींक माता, आवरी माता, सती माता ।
तिथियों की लोकदेवियां - चौथ माता, छठमाता, दशा माता ।

राज्य के अन्य प्रमुख जातियों की कुल देवियाँ

माता  

जिला

प्रमुख समाज और जातियां

करणी माता 

देशनोक बीकानेर 

चारणों की कुल देवी

तनोट माता

जैसलमेर  

सैनिकों की कुल देवी

चौथ माता

चौथ का बरवाड़ा

कंजर समाज की कुल देवी

नारायणी माता

अलवर 

सैन समाज की कुल देवी

शीतला माता

चाकसू 

बच्चों की माता

सिकराय माता

झुंझुनूं

खण्डेलवालों की कुल देवी

दधि माता

नागौर

दाधिच ब्राह्मण समाज की कुल देवी

आईं माता

बिलाड़ा

सिरवी जाति की कुल देवी

सच्चिया माता

ओसियां

ओसवाल समाज की कुल देवी

सुगाली माता

पाली

आउवा के ठाकुरों की कुल देवी

 


राजस्थान की अन्य प्रमुख लोकदेवियां


नाम                         स्थान
  1. परमेश्वरी माता       कोलायत (बीकानेर) 
  2. मालण माता         जानरा गांव (जैसलमेर) 
  3. नभडूंगर राय       धोलिया (जैसलमेर) 
  4. अन्नपूर्णा माता       उदयपुर
  5. जगत माता          दांतेसर  (उदयपुर)
  6. अम्बा माता         उदयपुर
  7. आसपुरी माता    आसपुरा डूंगरपुर
  8. त्रिपुरा सुन्दरी      तलवाडा  (बांसवाड़ा)
  9. भँवर माता          छोटी सादडी  (प्रतापगढ़)
  10. मरमी माता         राशमी चित्तौड़
  11. हिचकी माता     सनवाड़ भीलवाड़ा
  12. डाढ़ देवी          लाडपुरा कोटा
  13. फलौदी माता    खेराबाद कोटा
  14. दूध्या खेडी माताजी   कनवास कोटा
  15. खोरडी माता      करौली
  16. छींक माता        जयपुर
  17. महामाई माता   रैनवाल
  18. काली माता       चुरू
  19. मनसा देवी माता   चुरू
  20. भावल माता         भावल गांव नागौर
  21. पांडवराय माता    मेडता रोड नागौर
  22. सती बालाजी       बिलाड़ा जोधपुर
  23. पीपाड़ माता       ओसियां  (जोधपुर)
  24. घाटा रानी           सावर अजमेर
  25. चैना माता          भजनेरी बूंदी
  26. रक्तदंतिका माता   संथूर बूंदी

राजस्थान के प्रमुख राजवंशों की कुल देवियां


माता

जिला

 

प्रमुख राजवंश

करणी माता

बीकानेर

बीकानेर के राठौड़ों की कुलदेवी

 

ज्वाला माता

जोबनेर

जयपुर खंगारोत की कुलदेवी की कुलदेवी

 

अंजना/ केला देवी

करौली

यादव राज वंश की कुलदेवी

 

जीण माता

सीकर

चौहानों की आराध्य देवी

 

शाकंभरी माता

सांभर जयपुर

शाकंभरी के चौहानों की कुलदेवी

 

जमुआ माता

जयपुर

कछवाहा राजवंश की आराध्य देवी

 

शिला माता

जयपुर

कछवाहा राजवंश की आराध्य देवी

 

स्वांगिया माता

जैसलमेर

भाटी राजवंश की कुलदेवी

 

राजेश्वरी माता

भरतपुर

भरतपुर जाट वंश की कुलदेवी

 

नागणेची माता

जोधपुर

जोधपुर के राठौड़ों की कुलदेवी

 

आशापुरी माता

जालौर

जालौर के सोनगरा चौहानों की कुलदेवी

 

बाण माता

उदयपुर

सिसोदिया राजवंश की कुलदेवी

 

चामुंडा माता

मंडोर जोधपुर

गुर्जर प्रतिहार राजवंश की कुलदेवी और जोधपुर के राठौड़ राजवंश की आराध्य देवी

 

 

Read also

  1. करणी माता देशनोक- Karni Mata History in Hindi
  2. कैला देवी का इतिहास - Kela Devi Rajasthan
  3. लोक देवी जीणमाता 
  4. आमेर की शिला माता | Amer Shila Devi History in Hindi
  5. राजस्थान की लोक देवियाँ - Rajasthan ke Pramukh Lok Deviya
अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करना
Previous Post
Next Post

post written by:

2 comments:

  1. Thank you for sharing superb information. Your website Post is very unique and all information is reliable for new readers. Keep it up in future, thanks for sharing such a useful post gk in hindi हिन्दी सामान्य ज्ञान

    ReplyDelete